Homeदुनिया‘मैं इंतजार कर रही हूं, तालिबानी आएं और मुझे मार डालें’, अफगानी...

‘मैं इंतजार कर रही हूं, तालिबानी आएं और मुझे मार डालें’, अफगानी महिला मेयर का छलका दर्द

काबुल। अफगानिस्तान में तख्तापलट के बाद से ही बेबसी की अलग-अलग कहानियां सामने आ रही हैं। अफगानिस्तान की पहली और सबसे युवा महिला मेयर जरीफा गफारी (Zarifa Ghafari) ने अब तालिबानी शासन की शुरुआत के बाद दिल दहला देने वाले शब्दों से वहां के हालात को बयां किया है।

बता दें कि अब जब तालिबान का कब्जा अफगानिस्तान पर हो गया है, तब एक बार फिर भविष्य का संकट है। क्योंकि तालिबान कई ऐसे नियम लागू करता है, जो आधुनिकता के खिलाफ हैं।

मेयर ने कहा, मेरी या मेरे परिवार की मदद करने वाला कोई नहीं है। “मैं इंतजार कर रहा हूं कि तालिबानी मेरे जैसे लोगों के लिए आए और मुझे मार डाले। 27 वर्षीय जरीफा गफारी ने कहा कि उसने देश से भागने की कोशिश नहीं की, क्योंकि उसके पास जाने के लिए कोई जगह नहीं थी। मैं अपने परिवार को नहीं छोड़ सकती। और वैसे भी, मैं कहां जाऊंगी।

अफसोस की बात है कि महज तीन हफ्ते पहले देश की सबसे कम उम्र की मेयर गफारी ने कहा था कि वह अपने देश के भविष्य को लेकर आशावादी हैं। लेकिन रविवार को ये सपना टूट गया और अब देश तालिबान के हाथ में है।

गफारी ने कहा कि युवा लोग जानते हैं कि क्या हो रहा है। उनके पास सोशल मीडिया है। वे संवाद करते हैं। मुझे लगता है कि वे हमारे अधिकारों के लिए लड़ते रहेंगे।

बता दें कि जरीफा गफारी साल 2018 में अफगानिस्तान की पहली और सबसे युवा मेयर बनी थीं। उन्हें कई बार तालिबान की ओर धमकी दी गई थी। जरीफा के पिता जनरल अब्दुल वासी गफारी को तालिबान ने पिछले साल 15 नवंबर, 2020 को फांसी दे दी थी

अफग़ान महिलाओं की दहशत गफ़ारी की बातों से देखी और सुनी जा रही है। भले ही अफगानिस्तान की दयनीय स्थिति को व्यापक रूप से कवर किया जा रहा है, सोशल मीडिया पर गफारी के बयानों पर प्रतिक्रियाओं की बौछार हो रही है। यहां ट्विटर पर कुछ प्रतिक्रियाएं दी गई हैं।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments