Homeजुर्मसावधान! आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकती हैं 'बिजनेस साइटें'

सावधान! आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकती हैं ‘बिजनेस साइटें’

-ऑनलाइन बिजनेस साइट बनवाने के चक्कर में व्यापारी से ठगी

-साइबर सेल की सक्रियता से खाते में वापस आए 17,700 रुपये

भदोही। उत्तर प्रदेश की भदोही जनपद की पुलिस ने साइबर अपराध पर नियंत्रण कसने के लिए बड़ी पहल शुरू की है। इस कार्य में पुलिस ने ‘वर्ल्ड मार्ट इक्सपोर्ट वेबसाइट’ की नकेल कस पीड़ित व्यापारी के बैंक खाते में 17,700 रुपये वापस जमा कराए हैं। इसके साथ व्यापारी ऑनलाइन बिजनेस ठगी का शिकार होने से बच गया।

पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार ने साइबर अपराध की रोकथाम के लिए ‘साइबर क्राइम सेल’ को निर्देशित किया है कि किसी भी पीड़ित व्यक्ति के साथ हुई धोखाधड़ी या सोशल साइट के दुरुपयोग पर त्वरित कार्यवाही की जाये।

ये है ऑनलाइन ठगी का मामला
औराई थाना के गांव चकमसूद निवासी धनंजय कुमार जायसवाल पुत्र दशरथ जायसवाल ने आढ़त के लिये ‘ऑनलाइन प्लेटफार्म सर्च’ कर अपना व्यापार बढ़ाना चाहा। पीड़ित ने बताया कि जैसे ही हमने साइट पर जाकर सर्च किया तभी एक मोबाइल नम्बर से काल आयी और बताया गया कि सम्बंधित व्यक्ति ‘वर्ल्ड मार्ट इक्सपोर्ट वेबसाइट’ से बात कर रहा है। उसने अपना नाम राजा बताया। इसके बाद उसने कंपनी की डायरेक्टर रंजना कुमारी से बात कराया।

पीड़ित के अनुसार रंजना कुमारी ने बात करने के बाद ‘जयश्री ट्रेडर्स’ के नाम से प्रोफाइल बनाने के लिए 17,700 रुपए का खर्च बताया। इसके बाद वह पैसा बैंक आफ बडौदा के ‘डिजि बिजनेस वर्ल्ड’ खाते में जमा करा लिया। इसके बाद भी बिजनेस साइट नहीं बनायी गयीं। बाद में सम्बन्धित कंपनी की तरफ से 80,000 रूपये और जमा करने का दबाब बनाया गया। पैसे न भेजने पर पहले से जमा राशि न वापस करने की बात बतायी गयी।

पीड़ित धनंजय कुमार जायसवाल को अब समझ में आ चुका था कि वह ऑनलाइन ठगी का शिकार हुआ है। उसने इसकी शिकायत साइबर सेल में किया। मामले को गम्भीरता से लेते हुए जनपद की साइबर क्राइम टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए सम्बन्धित बैंक से पत्राचार कर जमा करायी गयीं सम्पूर्ण धनराशि के निकासी पर रोक लगा दिया गया।

साइबर सेल की तरफ से नकेल कसे जाने के बाद पुलिस का दावा है कि सम्बंधित कंपनी ने सम्पूर्ण धनराशि कुल रू-17,700 बैंक खाते में वापस कराया। पीड़ित साइबर सेल और पुलिस अधीक्षक भदोही की इस पहल पर बेहद खुश है। इस अपराध को बेनकाब करने में साइबर सेल की टीम ने अहम भूमिका निभाई, जिसमें एसआई आशीष सिंह,प्रभारी साइबर क्राइम सेल, उप निरीक्षक अरविन्द यादव,आरक्षी राधेश्याम कुशवाहा,अंकित त्रिपाठी,अमित कुमार राय शामिल रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments