Homeराज्यसीएमएस संस्थापकों को परिजनों की देश विदेश की चल-अचल सम्पत्ति सार्वजनिक करने...

सीएमएस संस्थापकों को परिजनों की देश विदेश की चल-अचल सम्पत्ति सार्वजनिक करने की चुनौती

लखनऊ। एक्टिविस्ट संजय शर्मा ने गिनीज बुक ऑफ रिकार्ड्स में दर्ज लखनऊ के सिटी मॉन्टेसरी स्कूल (सीएमएस) के संस्थापकों को अपने परिजनों की देश विदेश की चल-अचल सम्पत्ति सार्वजनिक करने की चुनौती दी है।

संजय शर्मा ने शनिवार को एक प्रेसवार्ता में कहा कि राजधानी में सीएमएस की 17 शाखाएं संचालित हैं, जिनमें 12वीं तक करीब 55 हजार छात्र-छात्राएं के पढ़ने की बात बताई जाती है। प्रायः सीएमएस के संस्थापक डॉ. जगदीश गांधी व उनकी पत्नी डॉ. भारती गांधी अपनी व्यक्तिगत सम्पत्ति की घोषणा करके अपने जीवन में नितांत ईमानदार होने के बड़े-बड़े दावे करते हैं।

संजय ने कहा कि जगदीश गांधी और भारती गांधी की यह घोषणाएं तब तक महज सस्ती लोकप्रियता पाने के हथकंडे मानी जायेंगी जब तक वे अपने ब्लड रिलेशन के सभी जीवित परिवारीजनों की देश-विदेश की सभी चल व अचल संपत्तियों की घोषणा को सार्वजनिक नहीं कर देते हैं।

संजय ने जगदीश गांधी और भारती गांधी से मीडिया के मार्फत खुली मांग की है कि यदि वे अपने जीवन में वास्तव में ईमानदार रहे हैं तो वे अपने ब्लड रिलेशन के सभी जीवित परिवारीजनों की देश-विदेश की चल व अचल संपत्तियों की घोषणा को सार्वजनिक करने की उनकी चुनौती को स्वीकार करें ताकि वास्तव में यह सिद्ध हो सके कि सिटी मॉन्टेसरी स्कूल का साम्राज्य खड़ा करने के दौरान उन्होंने या उनके परिवारीजनों ने कोई निजी लाभ नहीं कमाया है।

संजय ने खास तौर पर सिटी मोन्टेसरी स्कूल की अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक प्रो. गीता गांधी किंगडम तथा सिटी मोन्टेसरी स्कूल के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर रोशन गांधी को अपने-अपने परिवारों की देश व विदेश की चल व अचल संपत्ति को जगदीश गांधी व भारती गांधी की तर्ज पर सार्वजनिक करने की चुनौती दी है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments