Homeराज्यसीडीएस रावत के निधन पर मुख्यमंत्री धामी बोले: पिता तुल्य मार्गदर्शक...

सीडीएस रावत के निधन पर मुख्यमंत्री धामी बोले: पिता तुल्य मार्गदर्शक खोया, तीन दिन का राजकीय शोक घोषित

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सीडीएस जनरल बिपिन रावत के निधन पर प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक की घोषणा की है। तमिलनाडु के कुन्नूर जिले में हेलीकाप्टर दुर्घटना में सीडीएस रावत और उनकी पत्‍नी मधुलिका रावत समेत 13 लोगों की मौत हो गई।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देवभूमि के सपूत के निधन पर तीन दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है। राजकीय शोक 09 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक रहेगा। इस दौरान सभी सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज अर्धनत रहेगा व किसी प्रकार के सरकारी समारोह का आयोजन नहीं होगा।

तमिलनाडु हेलीकाप्टर क्रैश: सीडीएस रावत-पत्नी मधुलिका सहित 13 की मौत

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उन्होंने अपने पिता तुल्य संरक्षक और मार्गदर्शक को खोया है। जनरल बिपिन रावत का निधन उत्तराखण्ड और भारतवर्ष के लिए एक अपूरणीय क्षति है। दिवंगत मधुलिका रावत जी से भी सदैव स्नेह प्राप्त हुआ। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा को अपने साहसिक निर्णय और सैन्य बलों का मनोबल ऊंचा बनाए रखने के लिए जनरल रावत द्वारा दिए गए योगदान को हमेशा याद रखा जाएगा।

उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड निवासी सीडीएस जनरल रावत अपनी विलक्षण प्रतिभा, परिश्रम, अदम्य साहस व शौर्य के बल पर सेना के सर्वोच्च पद पर पहुंचे। जनरल रावत ने देश की सुरक्षा व्यवस्था और भारतीय सेना को नई दिशा दी। सीमाओं की सुरक्षा और देश की रक्षा के लिए उनके द्वारा कई साहसिक निर्णय किए गए। साथ ही सैन्य बलों के मनोबल को हमेशा ऊंचा बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनरल रावत के आकस्मिक निधन से न सिर्फ उत्तराखंड बल्कि देश की अपूरणीय क्षति हुई है। हम सबको अपने इस महान सपूत पर हमेशा गर्व रहेगा।

मुख्यमंत्री ने ईश्वर से हेलीकाप्टर दुर्घटना में दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने की प्रार्थना की। साथ ही सभी शोक संतप्त लोगों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट की।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments