Homeराज्यकिसानों की अनदेखी सरकार को पड़ेगी भारी : राकेश टिकैत

किसानों की अनदेखी सरकार को पड़ेगी भारी : राकेश टिकैत

लखनऊ। तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर चल रहे किसान आंदोलन को 8 महीने पूरे हो गए हैं। किसान किसी भी सूरत में अपनी मांगों को मनवाए बिना वापस लौटने को तैयार नहीं हैं। रविवार को ग्रेटर नोएडा के जेवर में एक महापंचायत में किसानों ने मोदी सरकार के खिलाफ फिर हुंकार भरी।

भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले जेवर टोल प्लाजा के पास सिकंदराबाद जेवर अंडरपास पर आयोजित महापंचायत में किसान नेता राकेश टिकैत शामिल हुए और कृषि कानूनों को समाप्त करने की मांग को उठाया। महापंचायत में 5 हजार से ज्यादा लोग मौजूद थे। महापंचायत को देखते हुए भारी पुलिस व्यवस्था की गई थी।

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने महापंचायत को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले आठ महीनों से अधिक समय से विभिन्न किसान नेता दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं। जब तक सरकार नए कृषि कानूनों को वापस नहीं लेगी, तब तक किसान घर वापसी नहीं करेंगे।

राकेश टिकैत ने कहा, ‘किसान केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कृषि कानूनों को रद्द करने, एमएसपी पर कानून बनाने समेत कई मांग कर रहे हैं। यदि किसानों की मांगों को सरकार नहीं मानती है और काले कानून वापस नहीं लेती तो यूपी में अगले साले होने वाले विधानसभा चुनाव में जनता उसे सबक सिखा देगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments