Homeखेल'1980' के बाद ओलम्पिक में दिखा भारत की हॉकी का जलवा, जर्मनी...

‘1980’ के बाद ओलम्पिक में दिखा भारत की हॉकी का जलवा, जर्मनी को हराकर ‘ब्रॉन्ज’ मेडल किया अपने नाम

टोक्यो। भारतीय हॉकी टीम के लिए गुरुवार का दिन बेहद अहम रहा। बेहद कड़े मुकाबले में भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने जर्मनी को 5-4 से हराकर कांस्य पदक अपने नाम किया है। इस तरह हॉकी टीम ने 41 साल बाद ओलम्पिक में पदक हासिल करके देशवासियों का बहुत बड़ा तोहफा दिया है। भारत ने 1980 के बाद हॉकी के खेल में ओलम्पिक में पदक जीतने में सफलता हासिल की है। मैच में शुरुआत में पिछड़ने के बाद भारत खिलाड़ियों ने जोरदार वापसी की और जर्मनी मात देकर कांसे का तमगा अपना नाम कर लिया।

भारतीय टीम सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों हार गई थी। इसके बाद उसे कांस्य पदक जीतने का मौका मिला था। इस मुकाबले में जर्मनी की तरफ से पहले क्वार्टर में ओरुज टिमूर ने गोल किया और भारत के खिलाफ 1-0 की बढ़त बना ली, लेकिन दूसरे क्वार्टर में सिमरनजीत सिंह ने गोल करके मैच बराबरी पर ला दिया। दूसरे क्वार्टर में जर्मनी ने दो गोल करके 3-1 की बढ़त बना ली। जर्मनी की टीम भारत पर दबाव बनाने की कोशिश कर रही थी, लेकिन हार्दिक सिंह के बाद हरमनप्रीत सिंह ने पेनाल्टी कार्नर से दो गोल किए और हाफ टाइम में दोनों टीमों का स्कोर बराबर पहुंच गया।

इसके बाद तीसरे क्वार्टर में भारत ने दमदार शुरुआत की और शुरुआत में ही एक के बाद एक दो गोल किए। इसमें सिमरनजीत सिंह के बाद रुपिंदर पाल सिंह ने गोल किया और भारत 5-3 से बढ़त बनाकर अपना दमखम दिखाने में सफल रहा। चौथे क्वार्टर में खेल के आखिरी 15 मिनटों में जर्मनी के लिए विंडफेडर ने एक गोल कर बढ़त को कुछ कम किया। अन्तिम मिनटों में खेल प्रेमियों की धड़कने बढ़ने लगी। आखिरी के मिनट में जर्मनी की टीम को पेनाल्टी कार्नर के जरिए गोल करने का मौका भी मिला, लेकिन भारत ने इसे नाकाम कर दिया और मैच कांस्य पदक के साथ अपने नाम कर देशवासियों को बहुत बड़ा तोहफा दिया।

भारत ने अन्तिम बार 1980 के मॉस्को ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीता था। कांस्य पदक की बात करें तो भारत 1972 के म्यूनिख ओलम्पिक में नीदरलैंड्स को हराकर यह पदक जीतने में सफल हुई थी। इस मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने मैच की दिशा अपनी ओर मोड़कर दुनिया को दिखा दिया कि उसे कम आंकना प्रतिद्वंदियों को भारी पड़ता है। मुकाबले के बाद भारतीय हॉकी प्रेमियों की खुशी का ठिकाना नहीं है। देश भर से वह टीम को बधाइयां दे रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस जीत के बाद ट्वीट किया प्रफुल्लित भारत! प्रेरित भारत! गर्वित भारत! टोक्यो में हॉकी टीम की शानदार जीत पूरे देश के लिए गर्व का क्षण है। ये नया भारत है, आत्मविश्वास से भरा भारत है। हॉकी टीम को फिर से ढेरों बधाई और शुभकामनाएं।

केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि भारतीय हॉकी टीम को बहुत बधाई जिन्होंने 135 करोड़ भारतीयों के चेहरे पर खुशी लाईं। टीम ने अपने प्रदर्शन से पदक जीतकर 135 करोड़ भारतीयों का दिल भी जीता है। 41 साल बाद भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने एक बार फिर मेडल जीता है इसके लिए उन्हें बहुत-बहुत बधाई।

 

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने इस मौके पर अपनी बधाई देते हुए कहा कि 41 साल के लम्बे समय के बाद हमें ओलंपिक पदक दिलाने के लिए भारतीय पुरुष हॉकी टीम को बधाई। ये ऐतिहासिक जीत खिलाड़ियों की पीढ़ी को प्रेरित करेगी।

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि #TokyoOlympics2020 में भारतीय पुरुष #हॉकी_टीम ने कांस्य पदक मैच में जर्मन हॉकी टीम को हराकर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया। टीम के सभी खिलाड़ियों को अद्वितीय प्रदर्शन और अविस्मरणीय जीत के लिए हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। समस्त देशवासियों को आप सभी पर गर्व है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments