HomeदेशKarnal Farmers Protest: टेलीकॉम सेवाएं 24 घंटे के लिए बंद, मैसेज समेत...

Karnal Farmers Protest: टेलीकॉम सेवाएं 24 घंटे के लिए बंद, मैसेज समेत वॉट्सएप, फेसबुक रहेगा ठप

हरियाणा सरकार ने 28 अगस्त को लाठीचार्ज के विरोध में हो रहे किसानों के प्रदर्शन को बढ़ता देख सभी तरह की टेलीकॉम सुविधा को बुधवार 24 घंटे के लिए करनाल में बंद करने का फैसला लिया है। गृह विभाग की ओर से इससे जुड़ा आदेश जारी कर दिया गया है।

इसमें कहा गया है, ‘गलत सूचना और अफवाहों के प्रसार को रोकने’ के लिए मोबाइल और इंटरनेट सेवा, फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर को निलम्बित करने का आदेश दिया गया है। गृह विभाग के एक आदेश के अनुसार करनाल जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बुधवार 00:00 बजे से बुधवार 11:59 तक बंद रहेंगी।

आदेश में कहा गया है, ‘करनाल जिले के अधिकार क्षेत्र में शांति और सार्वजनिक व्यवस्था की किसी भी गड़बड़ी को रोकने के लिए जारी किया गया, मोबाइल इंटरनेट सेवाएं (2 जी-3जी-4 जी-सीडीएमए-जीपीआरएस), एसएमएस सेवाएं, जिनमें थोक एसएमएस (बैंकिंग और मोबाइल रिचार्ज को छोड़कर) शामिल हैं और वॉयस कॉलिंग को छोड़कर मोबाइल नेटवर्क पर प्रदान की जाने वाली सभी डोंगल सेवाएं आदि निलम्बित रहेंगी। आदेश में कहा गया, ‘किसानों का धरना और भी चल सकता है। भड़काऊ सामग्री और झूठी अफवाहें फैलाने के लिए इंटरनेट सेवाओं का दुरुपयोग हो सकता है। इससे करनाल में सार्वजनिक उपयोगिताओं और सुरक्षा, सार्वजनिक सम्पत्ति और सुविधाओं और कानून व्यवस्था को नुकसान की स्पष्ट संभावना है।’

Shikhar Dhawan और आयशा मुखर्जी का तलाक, पत्नी ने इंस्टाग्राम पर बयां किया दर्द

इससे पहले बीते दिनों हुए पुलिस लाठीचार्ज को लेकर कार्रवाई की मांग कर रहे हजारों किसानों ने सरकार से बातचीत में हल नहीं निकलने के बाद महापंचायत का आयोजन किया। इसके बाद मार्च कर जिला सचिवालय परिसर (मिनी सचिवालय) पहुंचे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए पानी की बौछारें छोड़ी। अब किसान मिनी सचिवालय के गेट पर डटे हैं। किसान संगठनों ने प्रदर्शनकारियों पर 28 अगस्त को करनाल में हुए पुलिस लाठीचार्ज को लेकर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और ऐसा नहीं होने पर उन्होंने मिनी सचिवालय का घेराव करने की धमकी दी थी।

इससे पहले भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) नेता राकेश टिकैत ने कहा कि उन्होंने भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के उस अधिकारी को निलंबित करने की मांग की थी, जिन्होंने कथित तौर पर पुलिसकर्मियों से प्रदर्शन कर रहे किसानों का ‘सिर फोड़ने’ को कहा था। महापंचायत के लिए राकेश टिकैत, बलबीर सिंह राजेवाल, दर्शन पाल, योगेंद्र यादव, उग्राहन और गुरनाम सिंह चढूनी सहित संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) के कई वरिष्ठ नेता करनाल पहुंचे। वहीं किसानों की महापंचायत के मद्देनजर करनाल में सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी की गई है. करनाल में हरियाणा पुलिस के साथ ही बड़ी संख्या में केन्द्रीय बलों के कर्मी भी तैनात किए गए हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments