Homeदेशकेदार धाम पहले से अधिक आन-बान-शान के साथ हुआ खड़ा, भगवान शंकर...

केदार धाम पहले से अधिक आन-बान-शान के साथ हुआ खड़ा, भगवान शंकर की कृपा:प्रधानमंत्री

रूद्रप्रयाग। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केदारनाथ धाम के दौरे के दौरान अपने सम्बोधन में कहा कि बरसों पहले जो नुकसान यहां हुआ था, वो अकल्पनीय था। जो लोग यहां आते थे, वो सोचते थे कि क्या ये हमारा केदार धाम फिर से उठ खड़ा होगा? लेकिन, मेरे भीतर की आवाज कह रही थी की ये पहले से अधिक आन-बान-शान के साथ खड़ा होगा।

उन्होंने कहा कि इस आदि भूमि पर शाश्वत के साथ आधुनिकता का ये मेल, विकास के ये काम भगवान शंकर की सहज कृपा का ही परिणाम हैं। प्रधानमंत्री ने इन पुनीत प्रयासों के लिए उत्तराखण्ड सरकार, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और इन कामों की जिम्मेदारी उठाने वाले सभी लोगों का धन्यवाद दिया।

प्रधानमंत्री पहुंचे केदारनाथ धाम, दर्शन-पूजन के साथ आदिगुरु शंकराचार्य की मूर्ति का किया अनावरण

प्रधानमंत्री न कहा कि रामचरित मानस में कहा गया है-
‘अबिगत अकथ अपार, नेति-नेति नित निगम कह’ अर्थात्, कुछ अनुभव इतने अलौकिक, इतने अनंत होते हैं कि उन्हें शब्दों से व्यक्त नहीं किया जा सकता। बाबा केदारनाथ की शरण में आकर मेरी अनुभूति ऐसी ही होती है।

उन्होंने कहा कि हमारे यहां सदियों से चारधाम यात्रा का महत्व रहा है, द्वादश ज्योतिर्लिंग के दर्शन की, शक्तिपीठों के दर्शन की, अष्टविनायक जी के दर्शन की, ये सारी यात्राओं की परंपरा, ये तीर्थाटन हमारे यहां जीवन काल का हिस्सा माना गया है। अब हमारी सांस्कृतिक विरासतों को, आस्था के केन्द्रों को उसी गौरवभाव से देखा जा रहा है, जैसा देखा जाना चाहिए।

इस मौके पर प्रधानमंत्री अयोध्या दीपोत्सव का जिक्र करते हुए कहा कि आज अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर पूरे गौरव के साथ बन रहा है, अयोध्या को उसका गौरव वापस मिल रहा है। अभी दो दिन पहले ही अयोध्या में दीपोत्सव का भव्य आयोजन पूरी दुनिया ने देखा।
भारत का प्राचीन सांस्कृतिक स्वरूप कैसा रहा होगा, आज हम इसकी कल्पना कर सकते हैं। इसी तरह इसी तरह उत्तर प्रदेश में काशी का भी कायाकल्प हो रहा है। विश्वनाथ धाम का कार्य बहुत तेज गति से पूर्णता की तरफ आगे बढ़ रहा है।

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments