Homeराज्यपिंजरे में कैद तोते के जोड़े को देख जब मेनका गांधी ने...

पिंजरे में कैद तोते के जोड़े को देख जब मेनका गांधी ने रुकवाया काफिला…

सुलतानपुर। अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे के दूसरे दिन मेनका गांधी गांव के एक प्राथमिक स्कूल में बच्चों के संग बेंच पर बैठकर आखिर उनसे गुफ्तगू क्या करने लगी कि सबके होश उड़ गए। पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मेनका संजय गांधी ने तीन दिवसीय संसदीय क्षेत्र दौरे के दूसरे दिन कादीपुर तहसील मुख्यालय पर एक करोड़ रुपये की लागत से बनने वाली बस अड्डे के पुनर्निर्माण का शिलान्यास किया।

सांसद ने संसदीय क्षेत्र भ्रमण के दौरान सोमवार को गोसाईगंज बाजार में एक मिठाई की दुकान पर पिंजरे में बंद तोते की जोड़ी को अपने कब्जे में लेकर दुकानदार को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि पशु पक्षियों को कैद किया तो उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। मेनका गांधी ने भैरोपुर गांव के जंगल में तोते के जोड़ी को पिंजरे से आजाद किया। लेकिन, उड़ नहीं पाने के कारण फिर उन्हें अपने साथ वापस ले गयी।

यह भी पढ़ें-

उप्र: अब सीवर में नहीं उतरेगा सफाईकर्मी, मशीनों से होगी सफाई

श्रीमती गांधी ने प्राथमिक विद्यालय मैंनेपारा में बच्चों के साथ क्लास रूम में बैठकर बातचीत भी की। बच्चों के साथ बेंच पर बैठकर उनका नाम और पढ़ाई के बारे में जानकारी ली। जाते जाते शिक्षकों से पूछा कि बच्चों को मारते तो नहीं हैं, इस पर बच्चे काफी खुश नजर आये। सांसद ने कादीपुर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों की उपेक्षा के कारण कादीपुर का बस स्टेशन बंद हो गया था। यहां की यात्री सुविधाएं भी समाप्त हो गई थी। क्षेत्रीय लोग लम्बे समय से इसके जीर्णोद्धार की मांग कर रहे थे।

सांसद ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बताया कि बस अड्डे के पुनर्निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने 1.04 करोड़ स्वीकृत कर दिए हैं। श्रीमती गांधी ने कोरोना दौरान हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा के माध्यमिक शिक्षा बोर्ड व सीबीएसई बोर्ड के द्वारा जमा किए गए परीक्षा शुल्क को वापस करवाने का भी अश्वासन दिया है।

A strange logic

कुड़वार क्षेत्र में उद्यान विभाग की खाली पड़ी 49 एकड़ जमीन को वन क्षेत्र घोषित किए जाने की बात भी श्रीमती गांधी ने कही है। कादीपुर बस स्टेशन पुनर्निर्माण में यात्री विश्रामालय, एक ट्यूबवेल, दो हैंडपम्प बसों के प्लेटफार्म के निर्माण का कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य 6 माह रखा गया है। कादीपुर बस स्टेशन परिसर में आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए सांसद ने बस अड्डा निर्माण कार्य को गुणवत्ता पूर्ण करने की हिदायत दी।

उन्होंने कहा कि जिले का चतुर्मुखी विकास करना हमारी प्राथमिकताओं में है। उन्होंने बताया सुलतानपुर से कादीपुर जाने वाली 11 किलोमीटर तक व बरौसा से विरसिंहपुर तक हुई जर्जर सड़क का जल्द निर्माण कार्य किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments