Homeसियासतओवैसी के संगे मोर्चा बनाके ओमप्रकाश राजभर के याद आइल पुरान दोस्ती,...

ओवैसी के संगे मोर्चा बनाके ओमप्रकाश राजभर के याद आइल पुरान दोस्ती, स्वतंत्रत देव से मिलके कइले चर्चा

बिधानसभा चुनाव से पाहिले भाजपा और सुभासपा के बीच पक रहल बा खिचड़ी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में बिधानसभा चुनाव से पाहिले खिचड़ी पाकल शुरु हो गइल बा। जवन दल एक दूसरे के आलोचना करत थकत ना रहे, उनकर भी सुर एक दूसरे के प्रति बदलल-बदलल नजर आरहल बा

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्य्क्ष ओमप्रकाश राजभर और भाजपा अध्य्क्ष स्वतंत्र देव सिंह के मंगलवार के भइल मुलाक़ात के बाद सियासी गालियारा में नया समीकरण बनावे के चर्चा तेज हो गइल बा।

सुभासपा 2017 बिधानसभा चुनाव भजपा गठबंधन के साथे लड़ल रहे। एकरे बाद ओमप्रकाश राजभर कैबिनेट मंत्री भी बनावल गइले, उनकर पार्टी के लोग राज्यमंत्री और निगम के अध्यक्ष भी रहले।लेकिन ई शियाशी दोस्ती ज्यादा दिन तक परवान ना चढ़ल और राजभर जी के सरकार किनारा कई लेहलस एहकरे बाद से उ पार्टी के नेतृत्व पे लगातार हमलावर बनल बाने। ओहिजा मंगलवार के जेतरह से उनकर और स्वतंत्र देव सिंह के एक घंटा बातचीत भइल, ओहसे दुनो दल के सियासी दोस्ती फिरसे परवान चढ़े के अटकल तेज हो गइल बा।

ओवैसी के साथे के संकल्प मोर्चा बनाके दोस्ती के राह पे

दरसल ओमप्रकाश राजभर जी के मुलाक़ात एहलिए अहम् बा काहेकि प्रदेश में असदुद्दीन ओवैसी के पार्टी एआईएमआईएम के साथे उ भागीदारी संकल्प मोर्चा बनाके काम कर रहल बाने। एहसे पहिले कि एहकरे जरिये नया समीकरण देखे के मिलेला, राजभर के आपन पुरान दोस्ती याद आगईल। हालांकि उ एह मुलाक़ात के महज औपचारिक भेंट बतावलन और कहलन कि स्वतंत्र देव सिंह पिछड़ा वर्ग के नेता हवे, ओहकरे बाद भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष। ई मुलाक़ात निजी रहल लेकिन कुछ लोग अर्थ के अनर्थ लगइहे।

राजभर जी कहले कि एहसन लोग से हम कहल चाहतनी कि आये वाला बिधानसभा चुनाव में सुभासपा ही भाजपा के नेस्तोंनाबूत करी। उ कहलन कि राजनीती में के -के का करतबा, एहकर थाह समय – समय पे लेत रहे के चाही। दुगो बड़हन नेता व्यक्तिगत मुलाक़ात भी कर सकेले। ज़ब ममता बनर्जी और सोनिया गाँधी मील सकेली, ज़ब मायावती और अखिलेश मील सकेले त राजनीति में कुछो सम्भव बा।

एक तरफ ओवैसी और एक तरफ भाजपा के भागीदारी संकल्प मोर्चा के हकीकत : कांग्रेस

ओहिजा एह मुलाक़ात के लेके कांग्रेस सवाल उठा रहल बा। पार्टी के राष्ट्रीय मिडिया पैनिलिस्ट सुरेंद्र राजपूत कहलन कि भाजपा से लेके ओवैसी तक ई कौन भागीदारी संकल्प हो रहल बा। उ ओमप्रकाश राजाभर से सवाल कइलन कि का भाजपा उनके एह मोर्चा के बनावे के कहलस कि ई एक तरफ से ओवैसी रहिये और एक तरफ उ भाजपा के नेता लोग से मिलिहे। उ कहलन कि भाजपा के एह साजिश के खुलासा करेके पड़ी। जनता के सामने ई बात रख्खे के पड़ी कि राजभर के जरिये भाजपा के सगरी लोग के साधल चाहत बा। अब भाजपा और ओवैसी के खेल एकदम सामने आगईल बा कि ई एक दूसरे के पूरक हवें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments