Homeराज्यकांग्रेस को लड़ाई में लाने में जुटी प्रियंका की कोशिशों को पीके...

कांग्रेस को लड़ाई में लाने में जुटी प्रियंका की कोशिशों को पीके ने बताया गलतफहमी

लखनऊ। लखीमपुर हिंसा मामले में बेहद सक्रिय रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा  कांग्रेस को ऐसे मुद्दों के सहारे भले ही पुन: खड़े करने की कोशिश में हों। लेकिन, राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक पाटी को इसका फायदा मिलने वाला नहीं है। प्रियंका पहले भी हर चुनाव में इस तरह के प्रयास कर चुकी हैं। लेकिन संगठन की कमजोरी के कारण इसका फायदा नहीं मिल पाता।

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के मुताबिक ऐसी कोशिशों से पार्टी का कुछ भला हो पाएगा। प्रशांत किशोर के मुताबिक जो लोग या पार्टियां यह सोच रही हैं कि ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ के सहारे विपक्ष की तुरन्त वापसी होगी वे गलतफहमी में हैं। उनको निराशा ही हाथ लगेगी।

उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य से ‘ग्रैंड ओल्ड पार्टी’ की जड़ों और उनकी संगठनात्मक संरचना में बड़ी कमियां हैं। फिलहाल इस समस्या को कोई समाधान भी नहीं है। कई राजनीतिक पार्टियों को सत्ता तक पहुंचा चुके प्रशांत किशोर की यह टिप्पणी आगामी विधानसभा चुनाव स के लिहाज से बेहद अहम मानी जा रही है।

खीरी कांड के बाद उत्तर प्रदेश में अपनी खोई हुई जमीन तलाश कर रही कांग्रेस के लिए पीके का यह बयान बड़ा झटका है। कांग्रेस नेता प्रियंका के दौरों और सक्रियता का हवाला देकर सत्तारूढ़ दल को चुनौती मिलने की बात कह रहे हैं। लेकिन, पीके अभी भी कांग्रेस को विपक्ष का नेतृत्व करने लायक नहीं मानते हैं।

तालिबान का समर्थन करने वाले लखीमपुर मुद्दे का कर रहे राजनीतिकरण: योगी आदित्यनाथ

सियासी जानकारों के मुताबिक पीके ने ये बयान कांग्रेस की मौजूदा स्थिति को देखकर ही दिया है। ऐसा नहीं है कि प्रियंका पहली बार उत्तर प्रदेश में सक्रिय हुई हैं। हर चुनावी माहौल में उनके दौरे बढ़ जाते हैं। पार्टी की ओर से बड़े-बड़े दावे किये जाते हैं। लेकिन, चुनावी नतीजे सारी हकीकत बयान कर देते हैं। चुनाव दर दर चुनाव कांग्रेस और ज्यादा कमजोर होती गई है। उसके नेता एक एक कर साथ छोड़ रहे हैं। हालत ये है कि उसके लिए सभी सीटों पर उम्मीदवार तलाशना तक मुश्किल हो जाता है। इस बार भी प्रियंका माहौल बनाने की कोशिश में हैं। लेकिन, वह कितना सफल हो पाएंगी, ये चुनाव परिणाम ही बताएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments