HomeदेशPM मोदी बोले-कल्याण सिंह साथ होते तो राजा महेंद्र प्रताप विवि और...

PM मोदी बोले-कल्याण सिंह साथ होते तो राजा महेंद्र प्रताप विवि और डिफेंस सेक्टर को लेकर खुश होते

अलीगढ़। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यहां राजा महेन्द्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया। इस दौरान राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। अलीगढ़ जिले में 92 एकड़ से अधिक भूमि पर राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय उच्च शिक्षा का प्रमुख केंद्र बनकर उभरेगा, जिससे 395 कॉलेज सम्बद्ध होंगे।

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि आज अलीगढ़ के लिए, पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लिए बहुत बड़ा दिन है। आज राधाष्टमी है, जो आज के दिन को और भी पुनीत बनाता है। बृज भूमि के कण-कण में राधा ही राधा हैं। मैं पूरे देश को राधाष्टमी की हार्दिक बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि मैं आज इस धरती के महान सपूत, स्वर्गीय कल्याण सिंह की अनुपस्थिति बहुत ज्यादा महसूस कर रहा हूं। आज कल्याण सिंह हमारे साथ होते तो राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय और डिफेंस सेक्टर में बन रही अलीगढ़ की नई पहचान को देखकर बहुत खुश होते।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज जब देश अपनी आजादी के 75 वर्ष का पर्व मना रहा है, आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, तो इन कोशिशों को और गति दी गई है। भारत की आजादी में राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के योगदान को नमन करने का ये प्रयास ऐसा ही एक पावन अवसर है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज देश के हर उस युवा हो जो बड़े सपने देख रहा है, जो बड़े लक्ष्य पाना चाहता है, उसे राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के बार में अवश्य जानना चाहिए, अवश्य पढ़ना चाहिए। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह जी के जीवन से हमें अदम्य इच्छाशक्ति अपने सपनों को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरने वाली जीवटता आज भी हमें सीखने को मिलती है।

उन्होंने कहा कि हमारी आजादी के आंदोलन में ऐसे कितने ही महान व्यक्तित्वों ने अपना सब कुछ खपा दिया। लेकिन, ये देश का दुर्भाग्य रहा कि आजादी के बाद ऐसे राष्ट्र नायक और राष्ट्र नायिकाओं की तपस्या से देश की अगली पीढ़ियों को परिचित ही नहीं कराया गया। उनकी गाथाओं को जानने से देश की कई पीढ़ियां वंचित रह गईं, 20वीं सदी की उन गलतियों को आज 21वीं सदी का भारत सुधार रहा है।

उन्होंने कहा कि आज देश के प्रधानमंत्री के नाते मुझे फिर से एक बार ये सौभाग्य मिला है कि मैं राजा महेंद्र प्रताप सिंह जैसे विजनरी और महान स्वतंत्रता सेनानी के नाम पर बन रहे विश्वविद्यालय का शिलान्यास कर रहा हूं। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह सिर्फ भारत की आजादी के लिए ही नहीं लड़े थे, बल्कि उन्होंने भारत के भविष्य के निर्माण की नींव में भी सक्रिय योगदान दिया था।

उन्होंने अपनी देश-विदेश की यात्राओं में मिले अनुभवों का उपयोग भारत की शिक्षा व्यवस्था को आधुनिक बनाने के लिए किया था। वृंदावन में आधुनिक टेक्निकल कॉलेज, उन्होंने अपने संसाधनों, अपनी पैतृक संपत्ति दान करके बनवाया था। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के लिए भी बड़ी जमीन राजा महेन्द्र प्रताप सिंह ने ही दी थी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सम्बोधन की शुरुआत वृंदावन बिहारी लाल की जयकारे से शुरुआत की। उन्होंने कहा कि आज राधा अष्टमी है। यह ब्रज का खास त्योहार है। आज देश के सबसे बड़े नेता प्रधानमंत्री मोदी आशीर्वाद देने के लिए ब्रज क्षेत्र में आएं है। हम सभी उनका आभार व्यक्त करते हैं।

ALSO READ-

प्रधानमंत्री मोदी अलीगढ़ पहुंचे, डिफेंस कॉरिडोर के अलीगढ़ नोड्स का किया अवलोकन

उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि आज यह गौरव का दिन है, प्रधानमंत्री शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा प्रोजेक्ट देने आए हैं। आज का दिन पूरी पश्चिमी यूपी के लिए खास दिन है। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में अब नकल नहीं, अक्ल से छात्रों के जीवन संवर रहा है। यूपी सरकार नकल विहीन परीक्षा करा रही है। पाठ्यक्रम बदला गया है। रोजगार परख कोर्स शामिल किए गए। प्रदेश में अब नई यूनिवर्सिटी बन रही है। दस पर काम चल रहा है।

उन्होंने कहा कि आज हिन्दी दिवस है। हिन्दी क्षेत्र के नए पाठ्यक्रम शामिल किए गए। संस्कृति क्षेत्र में भी बदलवा हुए हैं। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व नकल विहीन परीक्षा हमेशा से ही हमारी प्राथमिकता रहीं है। उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि यह कल्याण सिंह की भूमि है। राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम से बड़ा प्रोजेक्ट है। डिफेंस कॉरिडोर से भी विकास होगा। युवाओं को शिक्षा के साथ रोजगार भी मिलेंगे।

 

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments