Homeराज्यसियासी माहौल की थाह लेने प्रियंका वाड्रा लखनऊ पहुंची, चुनावी रणनीति पर...

सियासी माहौल की थाह लेने प्रियंका वाड्रा लखनऊ पहुंची, चुनावी रणनीति पर करेंगी मंथन

-दो दिन के दौरे में कई बैठकों में होंगी शामिल

लखनऊ। प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी हलचल तेज होती जा रही है। विपक्षी दल भी संगठनात्मक बैठक कर रणनीति बनाने में जुट गए हैं। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव और उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका वाड्रा गुरुवार को लखनऊ पहुंची। चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पार्टी विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ‘मोना’ ने उनका स्वागत किया।

प्रियंका राजधानी में गोखले मार्ग पर शीला कौल की कोठी में ठहरी हैं। वह 10 व 11 सितम्बर को प्रदेश मुख्यालय में विधानसभा चुनाव से सम्बन्धित तैयारियों का जायजा लेंगी। वह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक कर आगे की रणनीति को लेकर मंथन कर निर्देश देंगी। इस दौरान वह यहां पर कई अहम बैठकों में हिस्सा लेंगी।

प्रियंका गांधी शुक्रवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय पर सुबह 10 बजे यूपी कांग्रेस की एडवाइजरी एंड स्ट्रेटजी कमेटी के साथ बैठक करेंगी। इसके बाद प्रदेश इलेक्शन कमेटी के साथ बैठक के बाद प्रियंका जोनवार बैठक करेंगी। वह प्रशिक्षण शिविरों का भी फीडबैक लेंगी।

Afghanistan holds a distinction

पार्टी महासचिव लखनऊ प्रवास के दौरान हर गांव कांग्रेस अभियान की समीक्षा करेंगी। हर जोन से जुड़े सभी पदाधिकारियों को जोन पर किए गए कार्यों की लिखित जानकारी के साथ पहुंचने का निर्देश दिया गया है। इस दौरान प्रियंका गांधी हर जोन में गठित कांग्रेस की ब्लॉक और न्याय पंचायत समितित के साथ ग्राम सभा अध्यक्षों के गठन की विस्तृत समीक्षा करेंगी।

दरअसल प्रियंका इस हकीकत से अच्छी तरह वाकिफ हैं कि सत्तारूढ़ दल भाजपा सहित विपक्षी दल सपा-बसपा की तुलना में कांग्रेस संगठन काफी कमजोर है। भाजपा के केन्द्रीय नेतृत्व ने तो मिशन यूपी 2022 के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। जातीय सन्तुलन साधने के लिहाज से नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है।

इसी तरह अखिलेश यादव भी लगातार दौरे कर संगठन को मजबूती देने में जुटे हैं, तो बसपा की भी ब्राह्मण सहित अन्य वर्गों के बीच बैठकें जारी हैं। आम आदमी पार्टी सहित एआईएमआईएम जैसे दल भी सियासी गोता लगाकर सीटें हासिल करने की कोशिश में हैं। ऐसे में कांग्रेस के सामने दमदार उम्मीदवार खड़े करने की भी चुनौती है। प्रियंका अपनी बैठकों में इन्हीं सब मुद्दों पर मंथन कर आगे की रणनीति को दिशा देंगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments