Homeराज्यप्रियंका का चुनावी दांव, सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 40 प्रतिशत आरक्षण...

प्रियंका का चुनावी दांव, सरकारी नौकरियों में महिलाओं को 40 प्रतिशत आरक्षण का वादा

लखनऊ। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर बुधवार को थोड़ी अपना महिला घोषणा पत्र (शक्ति विधान) जारी किया। पार्टी का दावा है कि यह महिला घोषणा पत्र महिला सशक्तीकरण एवं राजनीति में आधी आबादी की भागीदारी की दिशा में मील का पत्थर साबित होगा।

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में इस दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि महिलाएं अब अन्याय सहने को तैयार नहीं हैं। इसलिए हमने महिला घोषणापत्र बनाया है। इसके छह हिस्से हैं: स्वाभिमान, स्वावलंबन, शिक्षा, सम्मान, सुरक्षा और सेहत। उन्होंने कहा कि भारतीय संसद और विधानसभाओं में महिलाओं का प्रतिनिधित्व महज 15 फीसदी है। कांग्रेस ने इस निराशाजनक तस्वीर को बदलने का संकल्प लिया है। हम 40 फीसदी टिकट ​महिलाओं को देंगे। यहां म​हिलाओं के साथ रोज अत्याचार होता है। पुलिस अपराधी के साथ खड़ी दिखती है। अपराधी ज्यादातर सत्ता से जुड़े होते हैं। महिलाओं की सुरक्षा के लिए हम हम कानून लाएंगे कि अगर एफआईआर दर्ज नहीं होती तो कार्रवाई की जाएगी।

India successfully test-fires air version of BrahMos supersonic cruise missile off Odisha coast

प्रदेश की लेबर फोर्स में महिलाओं की भागीदारी महज 9.4 प्रतिशत है। यह भागीदारी बढ़ाने और लैंगिक असमानता कम करने के लिए कांग्रेस पार्टी प्रावधानों के मुताबिक 20 लाख में से 40 प्रतिशत नौकरियां महिलाओं को देगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस द्वारा महिला आरक्षण की शुरुआत पंचायती राज से हुई, जिसमें में 33 प्रतिशत सीटें महिलाओं को दी गईं। कांग्रेस पहली महिला प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री दिया। इसी सोच के तहत हमने महिला घोषणापत्र बनाया है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि कोरोना के दौरान लड़कियों को सबसे बड़ी मुश्किल ऑनलाइन शिक्षा को लेकर आई, क्योंकि उनके पास स्मार्टफोन नहीं है। उन्हें आने-जाने में मुश्किल होती है। स्मार्टफोन, स्कूटी और दक्षता विद्यालय लड़कियों को सशक्त बनाएंगे।

महिलाओं से किये वादे-

  • घरेलू हिंसा, यौन उत्पीड़न और निराश्रित महिलाओं के लिए राज्य और जिला स्तर की हेल्पलाइन।
  • सभी सरकारी कार्यालयों में अनिवार्य शिशु गृह।
  • कोरोना से प्रभावित महिलाओं के रोजगार के लिए वेतन सब्सिडी।
  • कामकाजी महिलाओं के लिए 25 शहरों में सुरक्षित और नवीनतम सुविधाओं वाले छात्रावास।
  • पुरुष केंद्रित नौकरियों जैसे परिवहन विभाग में ड्राइवर आदि में महिलाओं के लिए विशेष कोटा।
  • महिलाओं द्वारा संचालित छोटे व्यवसायों को सस्ता ऋण और टैक्स रिफंड हेतु फंड।
  • 50 प्रतिशत तक महिलाओं को नौकरी देने वाले व्यवसायों को कर में छूट और सहायता।
  • स्नातक कार्यक्रम में नामांकित प्रत्येक लड़की को स्कूटी।
  • माध्यमिक विद्यालयों में बालिकाओं को आय वर्ग के अनुसार छात्रवृत्ति।
  • 10+2 में प्रत्येक लड़की को स्मार्टफोन।
  • राज्य भर में वीरांगनाओं के नाम पर 75 दक्षता विद्यालय।
  • परिवार में पैदा होने वाली प्रत्येक बालिका के लिए एक एफडी (सावधि जमा)।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments