Homeराज्यलखनऊ में बोले पुष्कर धामी,भाजपा में नहीं चलती सोर्स-सिफारिश, CM बनने की...

लखनऊ में बोले पुष्कर धामी,भाजपा में नहीं चलती सोर्स-सिफारिश, CM बनने की नहीं थी कोई जानकारी

लखनऊ। उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपने लखनऊ दौरे के दूसरे दिन कैसरबाग स्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यालय पहुंचे। उन्होंने छात्र राजनीति के दौरान वहां गुजारे पलों को याद करते हुए युवाओं को निष्ठापूर्वक अपने दायित्वों को निभाने की नसीहत दी।

मुख्यमंत्री ने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि जब उन्हें सरकार के मुख्य सेवक का दायित्व सौंपा गया, तो इससे पहले उन्हें कोई भी जानकारी नहीं थी। राष्ट्रीय नेतृत्व की ओर से कुछ भी अवगत नहीं कराया गया था। यहां तक की कार्यालय से कोई फोन या किसी केन्द्रीय मंत्री की ओर से भी जानकारी नहीं दी गई। पार्टी विधानमंडल दल की बैठक में वह सामान्य विधायक के तौर पर शामिल हुए। इसके बाद केन्द्र से आये नरेन्द्र सिंह तोमर की ओर से ऐलान किया गया कि पुष्कर सिंह धामी को विधानमंडल दल का नेता चुना गया है। इसके अलावा किसी दूसरे नाम पर कोई चर्चा नहीं हुई।

मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि ऐसा भाजपा के अलावा किसी पार्टी में नहीं होता है। यहां किसी कार्यकर्ता को पहले से नहीं बताया जाता है कि उसे यह दायित्व दिया जा रहा है। दूसरी पार्टियों में पहले बात होती है, समझाया जाता है। ज​बकि भाजपा में नेतृत्व का सामान्य कार्यकर्ता पर इतना विश्वास होता है कि जिसको भी जो दायित्व दिया जाएगा, उसको वह पूरा निभायेगा। यहां कोई सोर्स सिफारिश नहीं चलती है।

PM Modi to attend 56th DGP Conference in Lucknow on Nov 20-21

मुख्यमंत्री ने कहा कि विद्यार्थी परिषद से लेकर भाजपा व हमारे अन्य संगठन में काम कर रहे कार्यकर्ता को समझना चाहिए कि उसकी मेहनत की अनदेखी नहीं हो सकती। कभी कभी देर हो सकती है। लेकिन, यहां अन्धेर नहीं होता। बहुत दिनों तक कोई किसी को पीछे नहीं रोक सकता। इसलिए मेहनत से अपने दायित्व को निभायें।

प्रधानमंत्री कार्यकर्ता की गहराई से रखते हैं जानकारी

इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुख्यमंत्री बनने के बाद अपनी मुलाकात का जिक्र करते हुए कहा कि इसके लिए मात्र 15 मिनट निर्धारित थे। लेकिन, प्रधानमंत्री ने कहीं ज्यादा समय दिया। अगर कोई कार्यकर्ता उनसे मिलने जाता है तो वह उस क्षेत्र से सम्बन्धित उसके दायित्व से जुड़ी इतनी गहरायी से जानकारी रखते हैं, कि सामने वाला सोच भी नहीं सकता।

प्रधानमंत्री मोदी के आने के बाद देश में नया वर्क कल्चर आया

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के आने के बाद देश में नये वर्क कल्चर की शुरुआत हुई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और वह स्वयं इसी तर्ज पर काम कर रहे हैं। अब तेजी से फैसले किये जाते हैं। सिर्फ बैठक के लिए अगली बैठक नहीं होती। इसी कड़ी में उत्तर प्रदेश और उत्तराखण्ड के बीच 21 सालों से चले आ रहे परिसम्पत्ति विवाद पर चन्द मिनटों की बैठक में फैसले के जरिए समाधान कर दिया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments