Homeदुनियातालिबान ने पाकिस्तान का झूठ किया बेनकाब, अफगानी मुद्रा में ही करेगा...

तालिबान ने पाकिस्तान का झूठ किया बेनकाब, अफगानी मुद्रा में ही करेगा कारोबार

काबुल। तालिबान ने पाकिस्तान को एक बड़ा झटका देते हुए उसे मंसूबों पर पानी फेर दिया है। पाकिस्तान में उच्च दर्जे के मंत्री ने अफगानिस्तान (Pakistan Trade with Afghanistan) के साथ करेंसी स्वैप एग्रीमेंट (Currency Swap Agreement) के तहत रुपए में ट्रेड करने का दावा किया था। हालांकि, तालिबान (Taliban) ने इस दावे का खंडन कर दिया है।

अफगानिस्तान के सांस्कृतिक आयोग के सदस्य अहमदुल्ला वासिक (Ahmadullah Wasiq) ने कहा है कि पाकिस्तान जैसे पड़ोसी देशों से कारोबार के लिए किया जाने वाला लेनदेन अफगानी मुद्रा में ही होगा।

इससे पहले अटकलें लगायी जा रही थीं कि पाकिस्तान जल्द ही अफगानिस्तान से रुपये में कारोबार शुरू कर सकता है। इससे उसे चालू खाते का घाटा कम करने में मदद मिलेगी। ऐसी खबरों का झूठा और खारिज करते हुए वासिक ने कहा कि इनमें कोई सचाई नहीं है कि पाकिस्तान के साथ बड़े कारोबार में उसकी करेंसी का यूज किया जाने वाला है। अहमदुल्ला वासिक ने कहा कि तालिबान अपनी राष्ट्रीय पहचान को महत्व देता है और ऐसा कोई कदम नहीं उठाएगा जिससे देश के आर्थिक और आध्यात्मिक हितों को नुकसान पहुंचे।

ALSO READ-

The Super Trio in action at the roof of the World

पाकिस्तान के वित्त और राजस्व मंत्री शौकत तारिन (Shaukat Tarin) ने इस सप्ताह की शुरुआत में वित्त पर सीनेट की स्थायी समिति को सूचित किया कि “अफगानिस्तान के साथ व्यापार अब रुपये में होगा क्योंकि देश अपने डॉलर के भंडार को संरक्षित करना चाहता है।” वहीं तालिबान के इस कदम को पाकिस्तान बिजनेस फोरम के उपाध्यक्ष अहमद जवाद ने देश के आयात के लिए एक सकारात्मक कदम बताया था।

इस बयान के बाद पाकिस्तान के कारोबारी भी उत्साहित हो गए थे। उन्होंने इस खबर को व्यापार बढ़ाने के उदेश्य से बेहतरीन कदम बताया था। कारोबारियों का कहना था कि इस तरह के करेंसी स्वैप एग्रीमेंट से दोनों देश के बीच कारोबार में डॉलर का प्रयोग नहीं होगा। इससे विदेशी मुद्रा से संबंधित खर्च और रिजर्व को बचाने में मदद मिलेगी।
अब अफगानिस्तान की इस तरह की प्रतिक्रिया से उनके सारे सपने टूट गए हैं।

करेंसी स्वैपिंग का मतलब मुद्रा की अदला बदली होती है। जब दो देश या दो व्यक्ति अपनी वित्तीय जरूरतों को बिना किसी नुकसान के पूरा करने के लिए मुद्रा की अदला बदली का समझौता करते हैं तो इसे करेंसी स्वैपिंग कहते हैं। भारत ने नेपाल-भूटान जैसे पड़ोसी देशों से करेंसी स्वैपिंग की हुई है। भारत के पांच रुपये की वैल्यू नेपाली आठ रुपये के बराबर है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments