Homeजुर्मकिशोरी से दुष्कर्म मामले में सपा-बसपा जिलाध्यक्ष सहित तीन गिरफ्तार

किशोरी से दुष्कर्म मामले में सपा-बसपा जिलाध्यक्ष सहित तीन गिरफ्तार

ललितपुर। किशोरी से छह वर्षों से चल रहे दुष्कर्म मामले में शुक्रवार को पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। मामले में आरोपी सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार सहित लघु सिंचाई विभाग के बर्खास्त जेई महेन्द्र दुबे को गिरफ्तार कर लिया गया है।

तीनों आरोपियों का मेडिकल कराने के बाद पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से सभी को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक तीनों आरोपी मिर्जापुर के एक होटल छिपे हुए थे। मामले में अब तक कुल सात लोग गिरफ्तार किये जा चुके हैं।

रिश्ते को कलंकित करने वाले इस गुनाह में किशोरी की तहरीर पर पिता, सपा जिलाध्यक्ष, उनके भाइयों व नगर अध्यक्ष, बसपा जिलाध्यक्ष व नगर अध्यक्ष सहित 28 लोगों पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया गया है। सपा जिलाध्यक्ष के भाई समेत 4 लोगों को पहले ही पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक ने बताया कि नाबालिग से दुष्कर्म मामले में तीन लोगों की आज गिरफ्तारी की गई है। चार को पहले ही पुलिस पकड़ चुकी है। इनमें छात्रा के पिता, उसके दो चाचा और सपा जिलाध्यक्ष के भाई अरविंद यादव शामिल है। मामला दर्ज होते ही आरोपियों को पकड़ने के लिए एसआईटी समेत पुलिस की 11 टीमें बनाई गई हैं, जो लगातार दबिश दे रही हैं।

सपा नेताओं ने दुष्कर्म पीड़ित किशोरी की पहचान की उजागर, झांसी जिलाध्यक्ष सहित 250 पर पाक्सो एक्ट की एफआईआर

ललितपुर कोतवाली सदर क्षेत्र निवासी 17 वर्षीय किशोरी की तहरीर के मुताबिक उसके साथ सबसे पहले दुष्कर्म तब हुआ जब वह कक्षा छह में पढ़ती थी। पिता ने खेतों के पास ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद यह सिलसिला बार बार शुरू हो गया। इसके बाद पिता ने उसका सौदा शुरू कर दिया और उसे धमका कर होटलों में ले जाने लगा। जहां नेताओं से लेकर अलग अलग लोगों ने उसकी अस्मत को तार तार किया। विरोध करने पर मां को मारने की धमकी दी। आखिरकार सब्र का पैमाना छलकने पर किशोरी ने मां और भाई को अपने साथ कमरे में बंद कर किसी तरह फोन से पुलिस से शिकायत की।

पुलिस अधीक्षक निखिल पाठक ने खुद किशोरी के घर पहुंचकर कार्रवाई का आश्वासन दिया। तब जाकर वह मां और भाई के साथ बाहर आई। इस मामले में सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार, राजू यादव, महेन्द्र यादव, अरविंद यादव, प्रबोध तिवारी, सोनू समैया, राजेश जैन जोझिया, महेंद्र दुबे, नीरज तिवारी, महेंद्र सिंघई, कोमलकांत सिंघई समेत 28 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। किशोरी का मेडिकल परीक्षण कराया गया और धारा 161 व 164 के तहत बयान दर्ज कराये गये।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments