Homeखेलबेल्जियम की दीवार के आगे भारतीय हॉकी टीम का फाइनल में पहुंचने...

बेल्जियम की दीवार के आगे भारतीय हॉकी टीम का फाइनल में पहुंचने का सपना टूटा

टोक्यो ओलम्पिक में पुरुष हॉकी टीम को सेमीफाइनल में बेल्जियम के हाथों 5-2 से मिली शिकस्त

टोक्यो। ओलम्पिक में हॉकी के दूसरे सेमीफाइनल में भारत को बेल्जियम के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा। दुनिया की दूसरी नम्बर की टीम ने भारत का विजयी रथ रोक दिया और मुकाबला 5-2 से अपने नाम कर लिया। इस तरह बेल्जियम ने फाइनल का टिकट हासिल कर लिया। हालांकि भारत के पास अभी कांस्य पदक जीतने का अवसर है।

मंगलवार को हुए मुकाबले में बेल्जियम ने पांच गोल किए जिसमें चार पैनल्टी कॉर्नर और एक पैनल्टी स्ट्रोक से आए। उसकी तरफ से एलेग्जेंडर हेंड्रिक्स ने हैट्रिक पूरी की और टूर्नामेंट में 10 से अधिक गोल करने में सफल रहे। वहीं भारत की ओर से हरमनप्रीत और मनदीप सिंह ने एक-एक गोल किए।

भारतीय टीम शुरुआती बढ़त के बावजूद इसे ज्यादा देर तक कायम नहीं रख पायी। पहले हाफ में भारत ने एक समय पर 2-1 से बढ़त बना रखी थी, लेकिन इसके बाद हुई गलतियों ने मैच बेल्जियम के पाले में कर दिया। दरअसल विश्व चैंपियन बेल्जियम का आक्रामक खेल उसके बेहद काम आया और वह लगातार भारतीय टीम पर दबाव बनाने में कामयाब रही। सेमीफाइनल मुकाबले में भारतीय टीम का डिफेंस बेहद कमजोर दिखा, जिसका विरोधी टीम ने पूरा फायदा उठाया। बेल्जियम की टीम पैनल्टी कॉर्नर को गोल में तब्दील करने में सफल रही, जबकि भारतीय खिलाड़ी इस मामले में आज असफल रहे। बेल्जियम की रक्षा पंक्ति की आगे उनकी रणनीति असरदार नहीं दिखी।

भारत ने अन्तिम 11 मिनट के अंदर तीन गोल खाए। भारतीय टीम 49 वर्ष बाद ओलम्पिक के सेमीफाइनल में पहुंची थी और अब वह ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के बीच होने वाले दूसरे सेमीफाइनल में पराजित होने वाली टीम से कांस्य पदक के लिये भिड़ेगी। भारत की तरफ से हरमनप्रीत सिंह (7वें) और मनदीप सिंह (8वें मिनट) ने गोल किये जबकि बेल्जियम के लिये अलेक्सांद्र हेंड्रिक्स (19वें, 49वें और 53वें मिनट) ने तीन जबकि लोइक फैनी लयपर्ट (दूसरे मिनट) और जॉन जॉन डोहमेन (60वें मिनट) ने एक गोल किया।

इस हार से भारतीय खेल प्रेमियों में निराशा है, लेकिन ओलम्पिक जैसे मुकाबले में जिस तरह से भारतीय हॉकी का अभी तक सफर रहा, उससे सभी उसकी सराहना भी कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस हार के बावजूद टीम की हौसला अफजायी की। उन्होंने कहा कि हार-जीत तो जीवन का हिस्सा है। #Tokyo2020 पर हमारी पुरुष हॉकी टीम ने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया और यही मायने रखता है। टीम को अगले मैच और उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं। भारत को अपने खिलाड़ियों पर गर्व है।

वहीं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने भी भारतीय टीम की सराहना की और मनोबल बढ़ाया।

पूर्व खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने भी भारतीय टीम का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि टीम ने पहले ही भारत को गौरवान्वित किया है। आप अभी भी ओलम्पिक पदक के साथ वापस आ सकते हैं। कांस्य पदक मैच के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ दें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments