Homeराज्ययोगी सरकार ने पेश किया 7301.52 करोड़ का अनुपूरक बजट, युवाओं के...

योगी सरकार ने पेश किया 7301.52 करोड़ का अनुपूरक बजट, युवाओं के रोजगार पर 3 हजार करोड़ होंगे खर्च

लखनऊ। विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी योगी आदित्यनाथ सरकार ने मानसून सत्र के दूसरे दिन 7301.52 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट पेश किया। इससे पहले मंत्रिपरिषद की बैठक में बजट के प्रस्‍तावों पर मुहर लगी।

वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने विधानसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि अत्यंत जरूरी योजनाओं को पूरा करने के लिए यह बजट लाया गया है। इसे जरिए युवाओं को रोजगार और किसानों को राहत देने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि अनुपूरक बजट में प्रदेश के युवाओं को डिजिटली सक्षम बनाने के लिए कोष की स्थापना की खातिर 3000 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। बुन्देलखण्ड एक्सप्रेस-वे के लिए 100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त व्यवस्था की गई है। बलिया लिंक एक्सप्रेस वे के लिए 50 करोड़ रुपये का आवंटन किया गया है। इसके साथ ही गन्ना किसानों का भुगतान और अधिवक्ताओं के लिए सामाजिक सुरक्षा निधि का बजट में प्रावधान किया गया है।

इससे पहले विधाननसभा में कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष के सदस्यों ने महंगाई के मुद्दे पर चर्चा कराने की मांग करते हुए हंगामा और नारेबाजी शुरू कर दी। नेता प्रतिपक्ष रामगोविन्द चौधरी ने कहा कि पेट्रोल डीजल के दाम लगातार बढ़ते जा रहे हैं। घरों में खाने के लाले पड़े हैं। सदन में सबसे पहले महंगाई पर चर्चा होनी चाहिए।
बसपा विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने कहा कि वह कृषि बिल व महंगाई पर चर्चा करना चाहते थे लेकिन सपा व कांग्रेस ने हंगामा कर दिया जिससे सदन स्थगित हो गया। उन्होंने कहा कि सपा व कांग्रेस भाजपा की मदद कर रहे हैं। कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा ने कहा कि आज मानसून सत्र का दूसरा दिन है। महंगाई के कारण प्रदेश के क्या हालात हैं ये किसी से छिपा हुआ नहीं है। कांग्रेस ने कल भी प्रदर्शन किया और आज भी किया। हमने इस पर विधानसभा अध्यक्ष से चर्चा की मांग की थी लेकिन इसे कार्य सूची में 78वें नंबर पर रखा गया है। सरकार चर्चा से भाग रही है।

यह भी पढ़ें-
राजद्रोह का मुकदमा दर्ज होते ही शफीकुर्रहमान बयान से पलटे, भाजपा बोली-सपा अपने सांसद सहित मांगे माफी

 

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने कहा कि सरकार गरीबों को मुफ्त में खाद्यान्न बांट रही है। उत्तर प्रदेश में पेट्रोल और डीजल के दाम अन्य राज्यों से कम हैं। उन पर वैट भी अन्य प्रदेशों की तुलना में कम है। विपक्ष के पास कोई काम नहीं है। वह सदन की कार्यवाही में बाधा डालना चाहता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments