Homeराज्यअब सभी अनाथ बच्चे योगी सरकार की छत्रछाया में, हर माह मिलेंगे...

अब सभी अनाथ बच्चे योगी सरकार की छत्रछाया में, हर माह मिलेंगे 2500 रुपये

लखनऊ। योगी सरकार ने एक अहम कदम उठाते हुए कोरोना से इतर किसी अन्य कारण से अनाथ हुए बच्चों को भी ‘उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य)’ के तहत आर्थिक मदद देने का फैसला किया है। कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव को हरी झंडी दी गई। योजना के जरिए प्रति बच्चे को 2,500 रुपये प्रति माह मिलेंगे। एक परिवार के पात्र अधिकतम दो बच्चों को ही लाभ मिलेगा।

कैबिनेट के फैसले के मुताबिक अनाथ हुए 18 वर्ष तक से बच्चों को आर्थिक मदद मिलेगी। साथ ही 18 से 23 वर्ष तक के उन अनाथ बच्चों को भी योजना का लाभ मिलेगा जो महाविद्यालय, विश्वविद्यालय या तकनीकी संस्थाओं से स्नातक कर रहे हों। नीट, क्लैट व जेईई जैसी राष्ट्रीय व राज्य स्तरीय प्रतियोगी परीक्षा पास करने वाले भी योजना का लाभ पा सकेंगे ।

इसके साथ ही ऐसे बच्चे भी लाभ पा सकेंगे जिनकी मां तलाकशुदा स्त्री या परित्यक्ता है। या फिर जिनके माता-पिता या परिवार का मुख्यकर्ता जेल में है। इसके अलावा बाल श्रम, भिक्षावृत्ति, वेश्यावृत्ति से मुक्त कराये गए बच्चे भी योजना के लाभ के हकदार होंगे। भिक्षावृत्ति या वैश्यावृत्ति में शामिल परिवारों के बच्चों को भी आर्थिक सहायता दी जाएगी। इस योजना पर आने वाला सारा खर्च प्रदेश सरकार वहन करेगी।

यदि अनाथ हुए बच्चे की उम्र 18 साल से अधिक है तो उस बच्चे को 23 साल की उम्र पूरी होने तक या स्नातक की शिक्षा पूरी होने तक या दोनों में से जो भी पहले पूरा होगा, वह भी इस योजना का लाभ पा सकेंगे।

कैबिनेट ने योजना के संचालन में आने वाली व्यावहारिक कठिनाइयों को देखते हुए भविष्य में जरूरी संशोधन एवं परिवर्तन के लिए मुख्यमंत्री को अधिकृत कर दिया गया है। प्रदेश में कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान किये जाने के सम्बन्ध में ‘उप्र मुख्यमंत्री बाल सेवा’ योजना का संचालन किया जा रहा है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments